ओमीक्रॉन (Omicron Variant) से खुद को कैसे बचायीं

भारत में करोना के केस दुबारा से लगातार बढ़ रहे हैं इस बीच हमारे सामने एक चुनौती खड़ी हो गई है कि हम अपने आप को करोना वायरस (Corona virus) से कैसे बचाएँ। भारत सरकार ने इस स्थिती से निपटने के लिए दुनिया का सबसे बड़ा टीका करण अभियान शुरू कर रखा है और इस टीका करण अभियान में अभी तक भारत ने दूसरी डोज तकरीबन 100% तक कर ली है।

 लेकिन इस बीच करोना वायरस का एक नया वैरियंट जिसका नाम ओमीक्रॉन (Omicron Variant) है बहुत तेजी से फैल रहा है और ये भारत के लिए भी चुनौती पेश कर रहा है। भारत के लिए इसमें एक अच्छी खबर यह है कि भारत में दूसरी डोज को 100% लगा दिया है और इसकी अधिक जनसंख्या मैं करोना वायरस के विरुद्ध लड़ने वाले एंटी बॉडीज (Antibodies) तकरीबन बन चूके हैं।

उर्दू मैं परहए

 मगर क्योंकि यूरोप और अमेरिका में केसेज लगातार भर रहे हैं तो भारत को भी इसकी तैयारी कर लेनी चाहिए। भारत की डेढ़ अरब की जनसंख्या मैं रहने वाले लोग अपने आप को करो ना की इस नई लहर से बचाने के लिए क्या करें इसके बारे में आज हम हल्का सा विश्लेषण करेंगे।

 मास्क लगाना Use of Mask

 दोस्तों मास्क (Mask) एक ऐसी चीज़ है अगर हम इसका उपयोग अधिकतर क्या करें तो निश्चित तौर से हम अपने आप और अपने घरवालों को इस महामारी से 80% तक बचाने में कामयाब रहेंगे। हमको यह भी याद रखना चाहिए की मास्क लगाना हमेशा से भारत के लोगों के लिए एक चुनौतीपूर्ण कार्य रहा है, क्योंकि उत्तर प्रदेश और बिहार में अधिक लोग गुटका आदि का सेवन करते हैं जिसकी वजह से उनको मास्क लगाने में हमेशा से दिक्कत रही है।

 अगर हम मास्क की क्वालिटीज के बारे में बात करें तो मार्केट में मिलने वाला एक साधारण सा मास्क भी आपको करोना के विरुद्ध काम करने में आपकी सहायता करता है, मगर जो लोग स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान कर रहे हैं उनके लिए ये जरूरी है कि वो N 95 मास्क (N 95 Mask) का उपयोग करें।

 साबुन या सैनिटाइजर का इस्तेमाल

 भारत में हर वक्त तकरीबन 10,00,00,000 लोग यात्रा करते हैं, और इस बीच उनको हाथ धोने (Hand washing) की समस्या हमेशा रहती है और आपको यह पता होना चाहिए कि हमारे हाथ और नाक का संपर्क बहुत ज्यादा होता है और अगर किसी व्यक्ति में कोरोना वायरस का संक्रमण है तो निश्चित है कि उसके हाथ पर भी वो वायरस होगा। इस चीज़ से निपटने के लिए हर एक व्यक्ति को दिन में कम से कम पांच बार अपने हाथ साबुन या सैनिटाइजर से साफ करने चाहिए।

 अगर दोनों की तुलना की जाए तो साबुन का नंबर पहले आएगा और उसके बाद सैनिटाइजर्स का नंबर आता है, तो अगर आपके पास साबुन और सैनिटाइजर दोनों मौजूद है तो निश्चित तौर से आप साबुन का उपयोग करेंगे और किसी कारण वर्ष अगर आपके पास साबुन नहीं है तो उस स्थिती में आप सैनिटाइजर का इस्तेमाल करेंगे।

 ज्यादा भीड़भाड़ में ना जाना

 दोस्तों अगर हम ऐसी जगहों पर ना जाएं जहाँ पर ज्यादा भीड़ भाड़ रहती है जैसे कि बाजार, बस स्टैंड, रेल यात्रा, सिनेमाघर आदि तो निश्चित तौर से हमने अपने आप को कोरोना वायरस से किसी हद तक बचा लिया। क्योंकि हमको ये पता नहीं होता है की भीड़भाड़ में किस व्यक्ति को कोरोनावायरस है और किसको नहीं, तो अक्लमंदी इसी में है कि हम ज्यादा भीड़भाड़ वाली जगहों में जरूरत से ज्यादा ना जाए।

 वैक्सीन लगाना Vaccination 💉

 कोरोना वायरस (Corona virus) की इस महामारी से बचने के लिए सबसे कारगर तरीका वैक्सीन लगाना है, हम ऊपर कह चूके हैं कि भारत में दुनिया का सबसे बड़ा टीका करण (Vaccination) अभियान चल रहा है। तो इस टीका करण अभियान से एक व्यक्ति के शरीर में कोरोना वायरस के विरुद्ध एंटी बॉडीज़ बनती है, इसका फायदा ये होता है की उसका शरीर किसी हद तक करोना वायरस से लड़ने की स्थिती में आ जाता है। और अगर किसी कारण वर्ष वो शरीर करोना वायरस की चपेट में आ जाता है तो वो उस शरीर को ज्यादा नुकसान करने में असमर्थ रहता है क्योंकि उसके विरुद्ध लड़ने के लिए वहाँ पर एंटीबॉडीज मौजूद होती हैं।

 तो भारत के हर व्यक्ति को यह सुनिश्चित करना होगा कि उसको वैक्सीन की दोनों डोज़ सही वक्त पर लगे ताकि वो अपने आप को और अपने परिवार को इस महामारी से बचाने में सफल हो।

 वैक्सीन लगाने के बाद आप वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट (Vaccination certificate) अपने पास रखना ना भूलें, क्योंकि ये इसका प्रमाण है की आपको वैक्सीन की कौन सी डोज लगी है और आप करोना वायरस से कितने सुरक्षित हैं.

 ये वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट (Vaccination certificate)  आपको यात्रा में और बहुत सारी जगहों में काम आने वाला है, इसलिए जब भी आप अपने आप को या घर में किसी व्यक्ति को वैक्सीन लगाए तो वहाँ से उस वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट (Vaccination certificate) लेना ना भुलैन।  

 ये कुछ ऐसे काम हैं जिनके करने से आप खुद को और अपने परिवार को कोरोना वायरस से बचा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.