Summer special : (Gulkand) गर्मी से लड़ने के लिए गुलकंद का इस्तेमाल सीखो

Spread the love

Gulkand : क्या आप इस बार गर्मियों में पुराने Drinks का इस्तेमाल नहीं करना चाहते हो, और कुछ नया ढूंढने की कोशिश कर रहे हो। अगर हां तो आप सही जगह पर आए हो, हम आपके लिए लाए हैं बहुत मजेदार और खुशबूदार गुलकंद ( Gulkand ) जो आपके पूरे दिन को हसीन बनाएगा।

Gulkand का एतिहास : History of Gulkand

गुलकंद ( Gulkand ) का इतिहास खंगाल ते हुए हमें पता चला असल में यह भारत में Persia से आया है। Gul एक अरबी शब्द है जिसका मतलब फूल के हैं फूल यानी flower, और Kand का मतलब शक्कर या मिठास के हैं।

भारत में इसका इस्तेमाल अक्सर किसी खाने में मिठास लाने के लिए किया जाता है। हम गुलकंद ( Gulkand ) को मिल्क शेक आइसक्रीम और कुल्फी में फ्लेवर लाने के लिए भी इस्तेमाल करते हैं। फूलों की जबरदस्त खुशबू खाना खाने वाले का दिल मोह लेती है।

हमारे खाने में फ्लेवर लाने के अलावा गुलकंद एक natural Coolant भी है जो गर्मियों में गर्मी की तीव्रता को कम करने में मदद करता है। अगर देखा जाए गुलकंद के इस्तेमाल से हमारा शरीर कई तरह के Digestive problems को खत्म करता है।

Read Also

How to make Gulkand at home

गुलकंद ( Gulkand ) को घर में बनाना बहुत आसान है, इसके लिए हम को गुलाब के ताजा फूल लाने हैं, उसके बाद उन गुलाब की पंखुड़ियों को चासनी में भिगोना है और कम से कम सूरज के नीचे 15 दिन तक रखना है। बस इतने आसान तरीके से आप गुलकंद को घर में बना सकते हैं। है ना आसान, अब आप जितना चाहे एक बार में गुलकंद को बनाकर एक Airtight container मैं स्टोर कार ले।

Health benefits of Gulkand: गुलकंद को फायदे

गर्मियों में मीठे का इस्तेमाल ज्यादा करने से अक्सर इंसान थका हुआ महसूस करता है। यह मौसम अपने साथ और भी बहुत सारी परेशानियां लेकर आता है जैसे हाजमे की खराबी, Acidity, कब्ज ( CONSTIPATION ) होना और पेट में गैस का बनना, अगर आप जरा सा गुलकंद रोज इस्तेमाल करते हो तो आपकी Digestion की परेशानी धीरे-धीरे दूर हो जाएगी और आप पूरे दिन Energetic महसूस करोगे।

अगर आप रोज गुलकंद ( Gulkand ) का इस्तेमाल करते हो तो नींद कम आना, पुराना ( Headache ) सर दर्द जैसी परेशानियां दूर हो जाते हैं। गुलकंद के इस्तेमाल से हमारे चेहरे से दाग धब्बे कम होकर उसकी रौनक को बढ़ाते हैं और हमारे चेहरे की स्क्रीन skin में निखार आ जाता है।

How to include Gulkand in your summer diet

  • हर रोज सोने से पहले दूध में गुलकंद मिलाकर इस्तेमाल करने से रात को नींद अच्छी आती है।
  • आप इसको पानी के साथ मिलाकर थोड़ा-थोड़ा पूरे दिन इस्तेमाल कर सकते हो, इससे हम acidity और गैस बनने से बच सकते हैं।
  • रोज सुबह एक चाय का चम्मच गुलकंद खाने से हमारा हाजमा ठीक रह सकता है।
  • गुलकंद में iron बहुत ज्यादा होता है, इसके इस्तेमाल से यह हमारे हाजमा को ठीक करके जो भी हम खाना खाते हैं उसमें मौजूद न्यूट्रिएंट्स nutrients को absorbe करने में हमारी हेल्प करता है।

इस Article मैं हमने जाना के गुलकंद के क्या-क्या फायदे हैं उसको कैसे बनाते हैं और गुलकंद के हमारी बॉडी में क्या क्या effect पढ़ते हैं। उम्मीद है कि आपको यह पढ़कर पसंद आया होगा। इसके बारे में अगर कोई सुझाव हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में जाकर आप कमेंट कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *